Friday , October 18 2019
Home / उत्तराखंड / देहरादून हाईकोर्ट के आदेशों को दरकिनार कर नदी नालों पर कराया जा रहा अवैध अतिक्रमण

देहरादून हाईकोर्ट के आदेशों को दरकिनार कर नदी नालों पर कराया जा रहा अवैध अतिक्रमण

सरकारी स्कूलों की बदहाली पर नहीं शासन का ख्याल!

प्राइवेट स्कूलों को दी जा रही हर संभव शासकीय मदद !

नदी के बीचों-बीच रास्ता तथा सड़क बनाकर प्राइवेट स्कूल को बनाया जा रहा महत्वपूर्ण !

शासन के खर्चे पर कराया जा रहा अवैध अतिक्रमण ! 

देहरादून : ग्राम हसनपुर कल्याणपुर शिमला बायपास  पर तहसील विकासनगर में फलक प्ले स्कूल पर शासन की मेहरबानी देखते ही बनती है इस प्राइवेट स्कूल पर शासन प्रशासन की ओर से नदी में कब्जा करा कर उनके रास्ते को चौड़ा किया जा रहा है और नदी से ही अवैध खनन कर के रास्ते की भराई की जा रही है .

 पुस्ते में भी अवैध खनन का इस्तेमाल किया गया है पिछले वर्ष भी सिंचाई विभाग की ओर से लगाए गए पुस्ते और बाउंड्री वॉल इस बात का सबूत है कि इस रसूखदार स्कूल मालिक पर प्रशासन पूरी तरह से मेहरबान है इस वर्ष भी पुस्ता लगाकर स्कूल को बाकायदा सिक्योर करने के लिए नदी पर अतिक्रमण शासन प्रशासन की मिलीभगत से कराया गया एक और जहां नदी नालों चरागाह और खेल के मैदानों तथा तालाबों आदि को खाली कराने के आदेश माननीय उच्च न्यायालय नैनीताल के द्वारा पारित किए गए हैं.

 वहीं दूसरी ओर इसके ठीक उलट विकासनगर तहसील में सिंचाई विभाग के द्वारा नदी के बीच बाकायदा पक्का पुस्ता लगाकर नदी से ही खनन लगाकर फलक पब्लिक स्कूल को लाभ दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है इस प्रकरण में विभागीय मिलीभगत के साथ साथ स्थानीय पुलिस तथा तहसील प्रशासन की भूमिका भी संदिग्ध प्रतीत होती है क्योंकि जिस प्रकार दिन में जेसीबी लगाकर भराव किया गया है और नदी में बड़े-बड़े गड्ढे कर दिए गए लेकिन जेसीबी मालिक और स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कोई भी कार्यवाही तहसील विभाग या पुलिस प्रशासन के द्वारा नहीं की गई.

 

 इससे प्रतीत होता है की प्रशासन नेताओं के आगे कितना नतमस्तक है इस संबंध में जब एसडीएम कौस्तुभ मिश्रा  से फोन पर बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामला मेरे संज्ञान में नहीं है लेकिन मैं इस पर घटनास्थल पर मौके पर लेखपाल को भेजकर इसकी तस्दीक कराऊंगा यदि मामला सही पाया जाता है तो संबंधितो के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को फोन पर दी गई थी उनके द्वारा मौके का निरीक्षण भी किया गया तो मौके पर नदी में गड्ढे किए जाना देखा गया था लेकिन इस पर कोई भी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई जबकि जेसीबी चलते हुए तथा भराव करते हुए फोटो भी स्थानीय टीम द्वारा पुलिस तथा एसडीएम को उपलब्ध कराए गए थे.

 लेकिन कार्रवाई ना किया जाना शासन प्रशासन की मिलीभगत को दर्शाता है जिससे नदी नालों पर अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है और शासन प्रशासन स्वार्थ हित के चलते इन पर कब्जे करवा  रहे हैं गौरतलब हो कि अभी कुंजा गांव में एक सरकारी स्कूल का जीना गिरने से दो बच्चे चोटिल हो गए थे उस स्कूल प्रबंधन के खिलाफ भी कोई प्रभावी कार्यवाही अभी तक जनता के सामने नहीं आई सिर्फ कागजों में कार्रवाई पूर्ण करके शासन प्रशासन इतिश्री कर रहा है

About admin

Check Also

महाराष्ट्र चुनाव में उत्तराखण्डवासी निभायेंगे महत्वपूर्ण भूमिकाः गौरव कुमार

देहरादून, आजखबर। महाराष्ट्र में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तराखण्ड के प्रदेश प्रमुख …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *